नेटवर्क मार्केटिंग के नुकसान क्या है | Disadvantages of Network Marketing in hindi

नेटवर्क मार्केटिंग के नुकसान क्या है | Disadvantages of Network Marketing in hindi


इस लेख में जानेंगे Network Marketing, Direct Selling, MLM के नुकसान क्या है (What are the disadvantages of Network Marketing, Direct Selling, MLM)


जानते है network marketing ke nuksan क्या है नेटवर्क मर्केटिंग या डायरेक्ट सेलिंग से तात्पर्य उस बिजनेस से है जिसमें व्यक्तियों द्वारा कंपनी के नेटवर्क के माध्यम से कंपनियों के लिए मार्केटिंग की जाती है न कि कंपनी के नेटवर्क के माध्यम से। 


इसलिए नेटवर्क मार्केटिंग कंपनियों के मामले में टेलीविजन, समाचार पत्र, पैम्फलेट आदि जैसे चैनलों के माध्यम से अपने उत्पादों का प्रचार नहीं करते हैं, बल्कि यह वह व्यक्ति है जो अपने उत्पादों का विपणन अपने नेटवर्क के माध्यम से करता है जो कि परिवार, दोस्त, पड़ोसी और कार्यस्थल के लोग हैं अगर आप इस बिजनेस को करना चाहते है तो आगे नेटवर्क मार्केटिंग करने के नुकसान को बताया गया है। 


नेटवर्क मर्केटिंग के नुकसान - Disadvantages of network marketing in hindi


जैसे डायरेक्ट सेलिंग करने फायदे है ठीक बैसे इस के कुछ नुकसान भी होते है आइये जानते है Network Marketing Ke Nuksaan क्या है।


इस प्रकार की मार्केटिंग का सबसे बड़ा नुकसान यह है कि अधिकांश कंपनियां और योजनाएं धोखाधड़ी का काम करती हैं ऐसी योजनाओं और कंपनियों पर भरोसा करना तोड़ा मुश्किल है जो वास्तविक कंपनियों के काम को भी मुश्किल बना देती हैं क्योंकि व्यक्ति सभी कंपनी को धोखाधड़ी के रूप में मानने लगता है इसलिए वे कंपनियों के उत्पादों/प्रोडक्ट को अपने नेटवर्क पर आसानी से बेचने को तैयार नहीं होता।


नेटवर्क मर्केटिंग का एक नुकसान यह भी है जो व्यक्ति नेटवर्क मार्केटिंग करते हैं वे शौकिया हैं और पेशेवर नहीं हैं इसके परिणामस्वरूप अच्छे उत्पादों का भी बुरी तरह से प्रचार करते है जिसके परिणामस्वरूप कंपनी के बारे में नेगेटिव प्रभाव पड़ता है।


और गलत प्रचार के कारण 1 असंतुष्ट ग्राहक की बजह से कंपनी 10 ग्राहकों को खो देगी इसलिए इस तरह से नेटवर्क मार्केटिंग करने वाले व्यक्तियों के सही अनुभव और ज्ञान की कमी के कारण नेटवर्क मार्केटिंग अच्छी छवि की तुलना में अधिक खराब छवि बन सकती है।


MLM/Network Marketing का एक और नुकसान यह है कि जिस तरह लोग आंखों देखी चीगों पर ज्यादा विश्वास करते है चूंकि नेटवर्क मार्केटिंग के मामले में टेलीविजन, समाचार पत्रों और इंटरनेट जैसे साधनों पर किसी तरह प्रचार देखने को नहीं मिलता, लोग इन उत्पादों से असहज हैं।


जो नेटवर्क मार्केटिंग (डायरेक्ट सेलिंग) के माध्यम से बेचे जाते हैं क्योंकि उन्होंने इससे पहले उत्पादों को कभी नहीं देखा है इसलिए सरल शब्दों में, उत्पादों के बारे में जागरूकता की कमी इस प्रकार की मार्केटिंग सभी मार्केटिंग करने वाली कंपनियों के लिए नुकसान बन जाती है।


नेटवर्क मार्केटिंग में होने वाले नुकसान को पॉइंट बाई समझते है - Disadvantages of Network Marketing

#1. शुरुआत में ज्यादा मेहनत और कम मुनाफा


जब हम कोई व्यवसाय शुरू करते हैं, तो हम कड़ी मेहनत करने के लिए तैयार होते हैं, लेकिन हमारी मेहनत के बावजूद आय अच्छी नहीं होने पर हम निराश होते हैं। नेटवर्क मार्केटिंग में नए एफिलिएट को टीम बनाने के लिए काफी मेहनत करनी पड़ती है, फिर भी उसे कम वेतन मिलता है।


#2. उत्पादों और सेवाओं की कीमत


नेटवर्क मार्केटिंग लाभ के लिए उत्पादों और सेवाओं को बेचने का व्यवसाय है। अगर आपने किसी डायरेक्ट सेलिंग कंपनी के प्रोडक्ट का इस्तेमाल किया है तो आपने महसूस किया होगा कि प्रोडक्ट की कीमत पारंपरिक बाजार से काफी ज्यादा होती है। अधिकांश नेटवर्कर्स को इन महंगे उत्पादों को बेचने में कठिनाई होती है।


#3. कम सफलता दर


अगर आप किसी भी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी को देखें तो टॉप पर गिने-चुने लोग ही होते हैं। यहां हर कोई सफल नहीं हो सकता। इस व्यवसाय में सफलता का प्रतिशत देखें तो यह 1% से भी कम है। आंकड़ों के अनुसार, लगभग 50% लोगों ने नेटवर्क मार्केटिंग में शामिल होने के 1 साल के भीतर छोड़ दिया और 90% लोगों ने पांच साल के भीतर कंपनी छोड़ दी या कंपनी बदल दी।


#4. मनी सर्कुलेशन और फ्रॉड कंपनियां


अगर किसी ने नेटवर्क मार्केटिंग बिजनेस को सबसे खराब नाम दिया है तो वो मनी सर्कुलेशन कंपनियां हैं जो नेटवर्क मार्केटिंग के नाम पर लोगों से पैसे लेती हैं और उन्हें झूठे भरोसे में रखती हैं। हालांकि इन दिनों ऐसी कंपनियां बहुत कम हैं।


#5. आय की गारंटी नहीं है


किसी भी व्यवसाय की एक निश्चित आय नहीं होती है, उतार चढ़ाव बना रहता है इसी तरह नेटवर्क मार्केटिंग में काम और प्रदर्शन के आधार पर कमीशन का भुगतान किया जाता है। कुछ लोग रोजगारोन्मुखी मानसिकता के साथ इस पेशे में प्रवेश करते हैं और एक निश्चित आय न होने की चिंता करते हैं।


#6. रिश्ते ख़राब होना


आपने यह देखा होगा की आमतौर पर ज्यादातर लोग नेटवर्क मार्केटिंग के नाम से ही दूर भागते हैं ऐसे में यदि आप किसी रिश्तेदार या दोस्त के घर पहुँच जाएँ तो वे आपसे बचने की कोशिश करते हैं जिससे आपको भी बेज्जती सी महसूस होती है जिसके परिणामस्वरूप रिश्तों में खटास आ जाती है।


#7. समाज में सम्मान का आभाव


अक्सर एक डायरेक्ट सेलर को लोग ज्यादा सम्मान की नजरों से नही देखते क्योंकि उनके मन में इस बिज़नस को लेकर कई तरह की आशंकाएं बनी रहती हैं। जैसे कि कहीं यह हमें फालतू में कंपनी ज्वाइन न करवा दे या कोई महंगा प्रोडक्ट न दे दे। यह नेटवर्क मार्केटिंग का बहुत बड़ा नुकसान है।


#8. आत्मविश्वास की कमी


आपकी कंपनी आपको कितनी भी अच्छी ट्रेनिंग दे दे, आपका upline आपकी कितनी भी मदद कर ले, आखिर में आपको अपना बिज़नेस खुद ही करना होता है। यदि आप लोगों से मिलने में हिचकिचाते हैं, आप अन्तर्मुखी व्यक्तित्व वाले इंसान हैं या आपके अंदर आत्मविश्वास की कमी है तो शुरुआत में आपको बहुत कठिनाई का सामना करना पड़ेगा।


#9. नेटवर्क मार्केटिंग के प्रति नकारात्मकता


नेटवर्क मार्केटिंग के प्रति कई प्रकार की गलत जानकारियाँ और आशंकाएं लोगों के मन में होती हैं जिसकी वजह से वे इस बिज़नेस से दूर रहना पसंद करते हैं। कुछ लोग गलत कंपनियों के चक्कर में फंस जाते हैं उसके बाद वे अच्छी कंपनियों को भी फ्रॉड समझते हैं


#10. सही ट्रेनिंग और Skills की कमी


नेटवर्क मार्केटिंग बिजनेस को करने के लिए ट्रेनिंग की बहुत ज्यादा जरूरत होती है।  वैसे तो यह बिजनेस सुनने में आसान लगता है लेकिन बिना ट्रेनिंग और स्किल्स के इस बिजनेस को करना आसान नहीं है।


यह भी पढ़ें

नेटवर्क मर्केटिंग के मूल मंत्र क्या है?

नेटवर्क मर्केटिंग के फायदे क्या है?

नेटवर्क मर्केटिंग क्यों करना चाहिए?

भारत में नेटवर्क मर्केटिंग का भविष्य क्या है?

निष्कर्ष

जैसा कि ऊपर Network Marketing Ke Nuksaan क्या है इस तरह नेटवर्क मार्केटिंग के फायदे के साथ-साथ कुछ नुकसान भी हैं और इसे करने की किसी भी व्यक्ति को पहले कंपनी की प्रामाणिकता की जांच करनी चाहिए क्योंकि पैसा कमाने का कोई आसान तरीका नहीं है और वे नेटवर्क मार्केटिंग जो जल्दी अमीर होने का वादा करते हैं घोटाला, इसलिए इस प्रकार की मार्केटिंग करते समय सावधान रहना चाहिए।


MLM सम्बंधित FAQs


नेटवर्क मार्केटिंग की शुरुआत कैसे हुई?

ऐसा कहा जाता है कि नेटवर्क मार्केटिंग की शुरुआत कैलिफोर्निया की एक nutricharge नाम की कंपनी द्वारा की गई थी हालांकि अभी तक यह बात पूरी तरह सावित नहीं है।


नेटवर्क मार्केटिंग का जन्मदाता कौन है?

Network Marketing की जन्मदाता MRS. PFE ALBEE नाम की महिला को माना जाता है क्योंकि इन्होंने ने ही नेटवर्क मार्केटिंग की शुरुआत करी थी।


भारत में नेटवर्क मार्केटिंग की शुरुआत कब हुई?

भारत में नेटवर्क मार्केटिंग का आगमन 1995 से 1996 का मध्य का बताया जाता है तभी से देश में विदेशी एमएलएम कंपनियों के आने के साथ ही भारत में नेटवर्क मार्केटिंग की शुरुआत हुई।


सबसे ज्यादा नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी किस देश में है?

वर्तमान में भारत में ही सबसे ज्यादा संख्या में नेटवर्क मार्केटिंग कंपनियों मौजूद है और यर संख्या सन 2020 लगातार बढ़ रही है हालांकि सभी कंपनियां इलीगल नहीं है।


भारत में कुल कितनी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनियां हैं?

भारत में 250 से अधिक नेटवर्क मार्केटिंग कंपनियां मौजूद हैं जिनमें अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय डायरेक्ट सेलिंग कंपनियां शामिल हैं। इनकी संख्या प्रतिवर्ष तेजी से बढ़ रही है लेकिन ये बात भी सत्य है कि सभी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनियां वैध एमएलएम नहीं हैं।


MLM में होने वाले नुकसानों को वीडियो से समझें



Post a Comment

और नया पुराने