Fundamentals of Network Marketing in Hindi | नेटवर्क मार्केटिंग के मूल मंत्र क्या है

 

नेटवर्क मार्केटिंग के मूल मंत्र | Fundamentals of Network Marketing in Hindi

आइये जानते है network marketing ke mul mantra (Fundamentals of Network Marketing in Hindi) आज की डेट में नेटवर्क मार्केटिंग तेजी से बढ़ता बिजनेस है जो खासकर युवाओं को अपनी और आकर्षित कर रहा है बैसे अमेरिका जैसे बड़े देशों में नेटवर्क मार्केटिंग के ज्यादा चर्चा है क्योंकि यहाँ नेटवर्क मार्केटिंग से जुड़ा हर दूसरा व्यक्ति आपको देखने को मिल जाएगा।

अगर भारत की बात की जाए तो इस बिजनेस की ज्यादातर लोगों को जानकारी नहीं होती इसलिए वह कहीं न कही नेटवर्क मार्केटिंग को फ्रॉड समझ बैठ थे है लेकिन आज में नेटवर्क मार्केटिंग यानी डायरेक्ट सेलिंग के मूल मंत्र लेकर आया हूँ अगर आप इन मूल मंत्र को मद्देनजर रखते हुए बिजनेस को करते है तो निश्चित ही आपको नेटवर्क मार्केटिंग में जल्द से जल्द सफलता मिलेगी। 


नेटवर्क मार्केटिंग क्या है?

नेटवर्क मार्केटिंग, जिसे मल्टी-लेवल मार्केटिंग के रूप में भी जाना जाता है, एक बिजनेस मॉडल है जिसमें लोगों का एक पिरामिड के आकार का नेटवर्क कंपनी के उत्पादों या सेवाओं को बेचने का काम करता है। इन नेटवर्क में प्रतिभागियों को आमतौर पर कंपनी द्वारा कमीशन के रूप में भुगतान किया जाता है। इस नेटवर्क में प्रतिभागियों को हर बार एक निर्दिष्ट कार्य करने पर एक कमीशन का भुगतान किया जाता है।

यह विशिष्ट गतिविधि उसके या उससे जुड़े किसी व्यक्ति द्वारा किसी उत्पाद या सेवा की बिक्री हो सकती है। यानी जब भी कोई उत्पाद या सेवा उसके या उससे जुड़े किसी व्यक्ति या उस व्यक्ति द्वारा लगे किसी व्यक्ति द्वारा बेची जाती है, तो उसे कमीशन मिलता है।

सरल शब्दों में, यदि हम नेटवर्क मार्केटिंग को समझने की कोशिश करते हैं, तो यह एक नेटवर्क संरचना है जिसमें प्रतिभागियों को कंपनी द्वारा कोई वेतन नहीं दिया जाता है, लेकिन जब वे अपने आंतरिक या आंतरिक नेटवर्क में शामिल होते हैं तो उन्हें एक कमीशन का भुगतान किया जाता है। बिक्री व्यक्तिगत रूप से की जाती है। इस प्रणाली में ग्राहक स्वयं इस नेटवर्क के भागीदार होते हैं और उनके परिवार, मित्र, रिश्तेदार उनके ग्राहक होते हैं। तो सिलसिला चलता रहता है।


नेटवर्क मार्केटिंग के मूल मंत्र क्या है

किसी भी काम को जल्द से जल्द सफल बनाने के लिए मूल मंत्रों की जरूरत सबको पड़ती है ऐसे ही कुछ मूल मंत्र आपके लिए लेकर आए है जिन्हें आपके लिए जानना बेहद जरूरी है।

1. रिसर्च करे

किसी भी कंपनी से जुड़ने से पहले उसकी मर्केट वैल्यू जरूर जाने ऐसा न हो आप ऐसी कंपनी से जुड़ जाए जिसके प्रोडक्ट गठिया क्विलिटी के हो इसके लिए आप इंटरनेट पर रिसर्च कर सकते है साथ ही लोगो से फीडबैक लेना न भूले।

2. सही लक्ष्य बनाए

नेटवर्क मार्केटिंग में सफल होना चाहते है और अच्छे पैसे कमाना चाहते है तो कंपनी से जुड़ने के बाद सबसे पहले अपना लक्ष्य जरूर बनाए यदि आप बिना लक्ष्य के काम करेंगे तो सफलता पाना तोड़ा मुश्किल हो सकता है इसलिए सही लक्ष्य सही रणनीति होना बहुत जरूरी है।

सही कंपनी का चुनाव : नेटवर्क मार्केटिंग में कैरियर बनाना चाहते है तो प्रवेश करने से पहले सही कंपनी का चुनाव करना महत्वपूर्ण कदम है कंपनी ऐसी चुने जिसका प्लान अच्छा हो, प्रोडक्ट अच्छा हो, कंपनी की सेवाएं अच्छी हो तभी कंपनी को जॉइन करे ज्यादा लाभ के ऑफर देने वाली कंपनी से हमेशा सर्तक रहे।

3. नेटवर्क बनाये

जैसा कि आप सभी जानते है नेटवर्क मार्केटिंग नेटवर्क बेस पर आधारित व्यापार है क्योंकि इसमें आपको अपने नीचे ज्यादा से ज्यादा लोगो को जोड़ना होता है यानी कि इसमे आपका जितना अच्छा नेटवर्क होगा आपकी इनकम भी उतनी अच्छी होगी।

इसलिए ऐसे लोगो को जोड़ो जो Network Marketing, Direct Selling में इंटरेस्ट रखते हो तभी वह कंपनी के प्रोडक्ट खरीदेंगे और आगे उपभोक्ताओं को बेचेंगे आप अपने नीचे जितने ज्यादा लोगो को जोड़ने में सफल होते है बैसे-बैसे आपका कमीशन बढ़ता जाता है।

4. विनम्र व्यवहार बनाए

अगर लोगो के दिल मे जगह बनानी है तो कभी भी उपभोक्ताओं से गलत रवैये से बात न करे उनके साथ विनर्मत बनाए रखे कई बार आपकी सही भाषा, सही व्यवहार लोगो को आपकी ओर आकर्षित करता है जिससे लोग आपसे जुड़े रहना पसंद करते है।

5. काम के प्रति लगन

सफलता के रास्ते पर बिजनेस की गाड़ी तभी ठिकती है जब हम इसमें लगन और उत्साह के साथ काम करते रहे यही सफलता का सच्चा मूल-मंत्र है खासकर नेटवर्क मार्केटिंग में लगन और उत्साह के साथ धेर्य का होना बेहद आवश्यक है।


निष्कर्ष

उमीद करता हूँ आपको नेटवर्क मार्केटिंग के मूल मंत्र जरूर पसन्द आए होंगे ऐसे ही नए-नए बिजनेस आईडिया जानने के लिए मेरे ब्लॉग पर आते रहे।


FAQs

नेटवर्क मार्केटिंग का भगवान किसे कहा जाता है?

सोनू शर्मा ने नेटवर्क मार्केटिंग में एक बड़ा मुकाम हासिल किया है इसलिए उन्हें नेटवर्क मार्केटिंग का भगवान भी कहा जाता है।


नेटवर्क मार्केटिंग के प्रकार क्या है?

नेटवर्क मार्केटिंग मुख्य रूप से दो प्रकार की होती है-

Multi Level Marketing (MLM) नेटवर्क मार्केटिंग

Single Level Marketing (SLM) नेटवर्क मार्केटिंग


सोनू शर्मा की नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी कौन सी है?

नेटवर्क मार्केटिंग के भगवान कहे जाने वाले सोनू शर्मा ने Naswiz की नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी को 2005 में जॉइन किया था।


Post a Comment

और नया पुराने